FacebookTwitterg+Mail

Movie Review: 'मुबारकां'

movie review of mubarakan
28 July, 2017 01:32:30 PM

मुंबई: बॉलीवुड फिल्म 'मुबारकां' ऐज रिलीज हो गई है। इस फिल्म के डायरैक्टर अनीस बज्मी है। यह कहानी लंदन में हुए एक सड़क हादसे से शुरू होती है, जिसमें पति-पत्नी की डेथ हो जाती है, लेकिन उनके दोनों बच्चे करण और चरण (दोनों ही अर्जुन कपूर) बच जाते हैं। उनके चाचा करतार सिंह (अनिल कपूर ) उन्हें अलग-अलग जगह सौंप देते हैं। करण को करतार अपनी लंदन वाली बहन (रत्ना पाठक शाह ) और चरण को पंजाब वाले भाई बलदेव (पवन मल्होत्रा) को दे देता है। जब करण-चरण बड़े होते हैं तो दोनों की अपनी-अपनी गर्लफ्रैंड होती हैं। करण को स्वीटी (इलियाना डिक्रूज) से और चरण को नफीसा (नेहा शर्मा) से प्यार होता है। लेकिन जब चरण लंदन जाता है तो उसे बिकल (अथिया शेट्टी) से पहली नजर में ही प्यार हो जाता है। कहानी में ट्विस्ट तब आता है, जब करण की शादी बिकल से और चरण की स्वीटी से तय की जाती है। लेकिन इस कन्फ्यूजन को क्रिएट और दूर करने में करतार सिंह का बहुत बड़ा हाथ होता है, जिसे जानने के लिए आपको फिल्म देखनी पड़ेगी।

फिल्म का डायरैक्शन बहुत ही उम्दा है। साथ ही सिनेमेटोग्राफी, कैमरा वर्क और बैकड्रॉप कमाल का है। फिल्म की लोकेशंस देखने लायक हैं। अनीस बज्मी की टिपिकल स्टाइल वाली इस फिल्म के डायलॉग्स खूब हंसाते हैं। फिल्म की कहानी कन्फ्यूजन से भरी है, जिसे सुनाने में अनीस बज्मी को महारथ हासिल है। कोई भी वल्गैरिटी फिल्म में कहीं नहीं है। लेकिन इसकी लंबाई बहुत ज्यादा है, जिसे कम किया जा सकता था। कॉमेडी के साथ-साथ फिल्म में इमोशंस भी देखने को मिलते हैं। फिल्म में अनिल कपूर ने चाचा और भाई के रूप में मजेदार अभिनय किया है। डबल रोल करना काफी मुश्किल होता है, पर अर्जुन ने काफी सहज तरीके से उसे निभाया है। रत्ना पाठक शाह और पवन मल्होत्रा की एक्टिंग लाजवाब है। इलियाना डिक्रूज और अथिया शेट्टी ने बहुत अच्छा काम किया है। नेहा शर्मा और करण कुंद्रा का काम भी सहज है, बाकी सह कलाकारों का काम भी अच्छा है। फिल्म का संगीत अच्छा है। गाने पहले से ही हिट हैं, लेकिन स्क्रीनप्ले में गानों की एडिटिंग की जा सकती थी। बैकग्राउंड स्कोर आपको कहानी के साथ-साथ ले जाता है।


Mubarakan Movie Review anil kapoor arjun kapoor
loading...