FacebookTwitterg+Mail

जब उठ खड़ा हुआ मुर्दा...

13 December, 2013 11:59:38 AM

मुंबई: मुंबई में एक आश्चर्यजनक  मामला सामने आया है। बताया जा रहा है कि  जब एक मृत्क को अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट ले जाया जा रहा था तो अचानक ही मृत व्यक्ति जिंदा हो उठा। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सायन के अर्थव हॉस्पिटल एवं रिसर्च में  58 वर्षीय चंद्रकांत गांगुर्डे को भर्ती करवाया गया था।


चंद्रकांत का इलाज 6 दिनों तक ठीक चलता रहा लेकिन मंगलवार की रात 9 बजे डॉक्टर ने उसे मरा हुआ घोषित कर दिया। डॉक्टर ने चंद्रकांत के परिजनों को  शवगृह में रखने की सलाह दी लेकिन चंद्रकांत के बेटे ने डॉक्टर से गुजारिश करते कहा कि उन्हें अस्पताल में ही रखा जाए। उसके बाद जब अगले दिन परिवार के लोग शव को अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट ले जाने लगे तो चंद्रकांत के शरीर में हरकते होने लगी और वह एक दम से जिंदा हो उठा।

जब परिवार के सदस्यों ने डॉक्टर को चंद्रकांत के जिंदा होने की बात बतार्इ। पहले तो डॉक्टर ने अपनी गलती मानने से साफ इंकार कर दिया। लेकिन काफी दबाव के बाद उसने अपनी गलती मानते  हुए गांगुर्डे का दोबारा इलाज शुरू किया । परिवार वालों ने इस मामले की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने डॉक्टर के खिलाफ लापरवाही का मामला दर्ज कर पूछताछ शुरू कर दी है।


मुर्दा अंतिम संस्कार अर्थव हॉस्पिटल चंद्रकांत गांगुर्डे श्मशान घाट डॉक्टर
loading...