FacebookTwitterg+Mail

स्क्रीन पर संदीप सिंह का रोल निभाने वाले दिलजीत की खुद की जिंदगी का सफर आपकी आंखे कर देगा नम

27 June, 2018 04:55:55 PM

मुंबई: सिंगर से एक्टर बने दिलजीत दोसांझ का सिक्का पॉलीवुड इंडस्ट्री से लेकर बॉलीवुड तक चलता है। दिलजीत ने अपने करियर की शुरुआत पंजाबी गाने गा कर की थी। लेकिन इस दौर में ही दिलजीत को अपनी जिंदगी में काफी संघर्ष करना पड़ा। दिलजीत का जन्म 6 जनवरी 1984 में गांव दोसांझ कलां जिला जालंधर में हुआ। इनके पिता बलबीर सिंह जो कि पंजाब रोडवेज से रिटायर्ड कर्मचारी है और वहीं इनकी मां सुखविंदर कौर एक हाउस वाइफ है।

 

PunjabKesari

 

जोकि दिलजीत एक सिख परिवार से ताल्लुक है तो इनकी पगड़ी को लेकर काफी विवाद हुआ। एक समय था जब लोग कहते थे कि बॉलीवुड में पगड़ी वाले का क्या काम है। लेकिन दिलजीत ने बॉलीवुड में आकर अपने हेटर्स को मुहतोड़ जवाब दिया। बॉलीवुड में दिलजीत ने कदम फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ से रखा था। 

 

PunjabKesari

 

उन्हें ‘लक 28 कुड़ी दा’ गाने के सिंगर के तौर पर जाना जाता है। ये गाना दिलजीत ने हनी सिंह के साथ मिलकर गाया था और ये पंजाबी हिट गानों में से एक है। इसके अलावा दिलजीत  ने प्रॉपर पटोला, दिस सिंह इज़ सो स्टाइलिश, पटियाला पेग जैसे गाने गए हैं। दलजीत ने सिंगिंग के अलावा एक्टिंग में हाथ अजमाते हुए पंजाबी फिल्म ‘दि लायन ऑफ़ पंजाब’ नामक फिल्म में काम किया।

 

PunjabKesari

 

दुर्भाग्यवश ये फिल्म बॉक्स ऑफिस पर ज़्यादा कमाल नहीं दिखा पाई। इसके बाद दिलजीत ने हार न मानते हुए ‘जट एंड जूलिएट’ फिल्म में काम किया और इस बार उनकी मेहनत का फल उन्हें फिल्म की बेशुमार कामयाबी के साथ मिला। इस फिल्म के बाद उनकी ज़िंदगी ही बदल गई।

 

PunjabKesari


पंजाबी सिनेमा के अलावा दिलजीत ने बॉलीवुड में बतौर सिंगर काम किया है। उन्होंने सिंग इज़ ब्लिंग, तेरे नाल लव हो गया, यमला पगला दीवाना और 'मेरे डैड की मारुति' जैसी फिल्मों में गाने गए हैं। इसके अलावा दिलजीत हाल ही में आई बॉलीवुड फिल्म ‘उड़ता पंजाब’ में करीना कपूर के अपोजिट डेब्यू किया था। दिलजीत ने कोक स्टूडियो में सिंगर गुरदास मान के साथ मिलकर ‘कि बनू दुनिया दा’ गाना भी गाया, जिसने एक दिन में सबसे ज़्यादा हिट्स का रिकॉर्ड बनाया। आज दुनिया में दिलजीत के हजारों फैन्स हैं और उन्हें खुश करने में दलजीत भी कोई कमी नहीं छोड़ते। 

 

PunjabKesari


बता दें कि दिलजीत की अपमकिंग फिल्म 'सूरमा' है। फिल्म हॉकी लेजेंड संदीप सिंह पर आधारित है और इस फिल्म में दिलजीत संदीप का रोल निभा रहे हैं। शाद अली इस फिल्म को डायरेक्ट कर रहे हैं। जितना संघर्ष संदीप को अपने जीवन में करना पड़ा है, उतना ही दिलजीत ने भी अपनी जिंदगी में काफी संघर्ष किया है। संदीप 22 अगस्त 2006 में शताब्दी एक्सप्रेस में गलती से गोली चलने की वजह से घायल हो गए थे, जबकि तभी उन्हें नैशनल टीम के साथ विश्व कप के लिए जर्मनी रवाना होना था। इस दुर्घटना ने उन्हें व्हीलचेयर पर ला दिया और करीब दो वर्षों तक वीलचेयर पर रहना पड़ा था, लेकिन उन्होंने हार नहीं मानी और मेहनत करके एक बार फिर नैशनल टीम में शामिल होने के लिए खुद को पूरी तरह से तैयार कर लिया। 

 

PunjabKesari


diljit dosanjh struggle story soorma sandeep singh
loading...