main page

आंदोलन कर रहे किसानों को नहीं कृषि कानून की जानकारी,बस किसी के कहने पर धरना दे रहे हैं : हेमा मालिनी

13 January, 2021 11:30:50 AM

कृषि कानून को लेकर केंद्र सरकार और किसानों के च तकरार अभी खत्म नहीं हुई है। मंगलवार को नए कृषि कानूनों पर सुप्रीम कोर्ट ने अहम फैसला सुनाते हुए इसको लागू करने पर अंतरिम रोक लगा दी है। इसके साथ ही किसानों और केंद्र सरकार के बीच गतिरोध दूर करने के लिए 4 सदस्यीय समिति का गठन किया है।

मुंबई: कृषि कानून को लेकर केंद्र सरकार और किसानों के च तकरार अभी खत्म नहीं हुई है। मंगलवार को नए कृषि कानूनों पर सुप्रीम कोर्ट ने अहम फैसला सुनाते हुए इसको लागू करने पर अंतरिम रोक लगा दी है। इसके साथ ही किसानों और केंद्र सरकार के बीच गतिरोध दूर करने के लिए 4 सदस्यीय समिति का गठन किया है।

Bollywood Tadka

इसी बीच  नए कृषि कानूनों को रद्द किए जाने की मांगों को लेकर दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर डटे किसानों पर मथुरा से बीजेपी सांसद और एक्ट्रेस हेमा मालिनी ने एक बयान दिया। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारी किसानों को लेकर सवाल खड़ा किया।

Bollywood Tadka

हेमा का कहना है कि जो किसान धरने पर बैठे हैं, उन्हें कानून में समस्या ही नहीं पता है। एक न्यूज चैनल से बात करते हुए हेमा ने कहा-'धरने पर बैठे किसानों को ये भी नहीं पता है कि उन्हें क्या चाहिए और कृषि कानूनों के साथ असली दिक्कत क्या है। इससे ये साफ होता है कि उन्हें किसी ने कहा और वो लोग धरने पर बैठ गए हैं।'

Bollywood Tadka

बता दें कि इससे पहले भी कई बीजेपी नेताओं द्वारा किसानों के आंदोलन पर सवाल खड़े किए गए थे। जिसमें इस आंदोलन को विपक्ष द्वारा प्रायोजित बताया, जबकि कई बार खालिस्तानी समर्थक संगठनों के साथ होने की बात कही। वहीं नए कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर दिल्ली-यूपी बॉर्डर पर धरने पर बैठे किसानों को 49 दिन हो गए हैं।


hema maliniprotesting farmersfarmers protestBollywood NewsBollywood News and GossipBollywood Box Office Masala NewsCelebrity
loading...