main page

शो 'द फॉरगॉटन आर्मी' में हुआ है वास्तविक फुटेज का इस्तेमाल

11 January, 2020 12:52:16 PM

अमेजन प्राइम वीडियो की ''द फॉरगोटेन आर्मी - आजादी के लिए'' (The Forgotten Army) में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की अगुवाई वाली भारतीय राष्ट्रीय सेना से परिचित करवाया जाएगा, एक ऐसी भारतीय सैन्य विंग जो सिंगापुर के पतन के बाद युद्ध के भारतीय कैदियों द्वारा गठित है। चूंकि कहानी का एक बड़ा हिस्सा 1940 के

नई दिल्ली। अमेजन प्राइम वीडियो की 'द फॉरगोटेन आर्मी - आजादी के लिए' (The Forgotten Army) में नेताजी सुभाष चंद्र बोस की अगुवाई वाली भारतीय राष्ट्रीय सेना से परिचित करवाया जाएगा, एक ऐसी भारतीय सैन्य विंग जो सिंगापुर के पतन के बाद युद्ध के भारतीय कैदियों द्वारा गठित है। चूंकि कहानी का एक बड़ा हिस्सा 1940 के दशक के सिंगापुर पर आधारित है, ऐसे में निर्देशक कबीर खान द्वारा मुंबई में द्वीप शहर के कुछ हिस्सों को रीक्रिएट किया गया है।

 

कबीर खान ने  इंटरव्यू में बताई ये बात
निर्देशक कबीर खान  ने हाल ही में एक इंटरव्यू में साझा किया कि उन्होंने सिंगापुर के सिटी हॉल को मुंबई में कैसे रीक्रिएट किया था। 'जबकि हमने वर्तमान सिंगापुर के दृश्यों की शूटिंग उसी देश मे की है, लेकिन पुराने सिंगापुर की भव्यता को मुंबई में रीक्रिएट करना पड़ा था। हमने ऐसा अभिलेखीय फुटेज और अत्याधुनिक तकनीक की मदद से किया है, "निर्देशक ने गर्व से साझा किया। कबीर ने आगे बताया कि उनकी टीम ने प्री-प्रोडक्शन के हिस्से के रूप में उपलब्ध फुटेज को भी खंगाला है। "सच कहूं तो, हमने शो में उन कुछ वास्तविक फुटेज का उपयोग किया है।'

 

 वास्तविक फुटेज का शो में हुआ है इस्तेमाल
बोस की बहादुर सेना की यह कहानी नेता के प्रतिष्ठित भाषण, 'तुम मुझे खून दो' के उल्लेख के बिना अधूरी होगी। सिंगापुर का सिटी हॉल इस ऐतिहासिक भाषण का गवाह था, ऐसे में मुंबई के फिल्म सिटी में इसका पुर्ननिर्माण किया गया था। कबीर खान कहते है,"मेरे लिए यह महत्वपूर्ण था कि मैं सिंगापुर की प्रतिष्ठित जगहों को फिर से बनाऊं और उन घटनाओं का एक प्रामाणिक लेखा-जोखा प्रस्तुत करूं। हमने कई रोंगटे खड़े कर देने वाले दृश्यों की शूटिंग की है जैसे कि जापानी द्वारा साइकिल पर ब्रिटिश सेना पर हमला बोलना, और सिंगापुर सिटी हॉल से मार्च निकाल रहे 30,000 सैनिकों ने अपनी राइफलें उठाते हुए 'जय हिंद' के नारे लगाए थे। हमने सिंगापुर में INA स्मारक पर भी शूटिंग की है। अधिकांश सेट ब्लूप्रिंट की मदद से बनाए गए थे और VFX के साथ उन्हें आगे बढ़ाया गया है। हमारे साथ लगभग 900 लोग चौबीसों घंटे काम करते थे।'

 

स्वतंत्रता सेनानियों की अनकही कहानी है 'द फॉरगॉटन आर्मी'
यह श्रृंखला उन स्वतंत्रता सेनानियों की अनकही कहानी है जिन्होंने भारत की आजादी के लिए मुश्किलों और गोलियों से संघर्ष की जंग लड़ी थी। 'द फॉरगॉटन आर्मी - अजादी के लिए' दर्शकों को उस दौर में वापस ले जाएगी, जहाँ भारतीय स्वतंत्रता ने संघर्ष की लड़ाई लड़ी थी और 55,000 सैनिकों के बलिदान ने हमारी स्वतंत्रता में योगदान दिया था।

अनुभवी फिल्म निर्माता कबीर खान द्वारा निर्मित और निर्देशित, 'द फॉरगॉटन आर्मी - आजादी के लिए' 24 जनवरी 2020 से अमेज़न प्राइम वीडियो पर स्ट्रीमिंग के लिए उपलब्ध होगी।


the forgotten armyamazon prime videokabir khanbollywood gossipsbollywoodद फॉरगॉटन आर्मी
loading...