main page

हाथरस के बाद बलरामपुर में लड़की के साथ हुआ दुष्कर्म तो फूटा कृति सेनन का गुस्सा, बोलीं 'पूजा और अष्ट

01 October, 2020 04:46:55 PM

हाथरस गैंगरेप मामले में पीड़िता को अभी न्याय नहीं मिला, लोगों का इस घटना के प्रति गुस्सा अभी कम नहीं हुआ है कि एक और रेप मामला सामने आया है। ये मामला है बलरामपुर का, जहां दरिंदों ने 22 साल की कॉलेज छात्रा के साथ दरिंदगी की। एक के बाद एक दुष्कर्म की खबर सुन बॉलीवुड एक्ट्रेस कृति सेनन का खून खोल गया ह

बॉलीवुड तड़का टीम. हाथरस गैंगरेप मामले में पीड़िता को अभी न्याय नहीं मिला, लोगों का इस घटना के प्रति गुस्सा अभी कम नहीं हुआ है कि एक और रेप मामला सामने आया है। ये मामला है बलरामपुर का, जहां दरिंदों ने 22 साल की कॉलेज छात्रा के साथ दरिंदगी की। एक के बाद एक दुष्कर्म की खबर सुन बॉलीवुड एक्ट्रेस कृति सेनन का खून खोल गया है और उन्होने सोशल मीडिया पर जमकर भड़़ास निकाली है। 

Bollywood Tadka


कृति ने इंस्टाग्राम पर पोस्ट शेयर करते हुए लिखा, ''ये नई कहानी नहीं, इसकी पुरानी कहानी!
हमने कई ऐसे मामलों को देखा है, जिन्होंने हमें क्रोधित, घृणित, परेशान, स्तब्ध और एक ही समय में डरा दिया है! लोगों ने लाखों लोगों को आवाज दी, विरोध किया, निंदा की, दोषियों को सबसे अधिक भयानक सजा देने की मांग की, कैंडल मार्च में भाग लिया और बहुत कुछ! लेकिन सच यह है कि कुछ भी नहीं बदलता है !! कुछ भी तो नहीं!

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

Its not a new story, its an old one! We have witnessed several such cases that made us angry, disgusted, upset, numb and scared all at the same time! People voiced in millions, protested, condemned, demanded the culprits to be given the most horrifying punishment possible, participated in candle marches and more! But the sad truth is that NOTHING changes!! NOTHING! India recorded an average 87 rape cases every day in 2019 and 4,05,861 cases of crimes against women during that year- 7% more than 2018. (Not citing 2020 because lockdown statistics won’t reflect the real state) It is the MINDSET that needs to change! The patriarchal thinking that is set so so deep in people’s minds for years! It needs to change from the very base! The upbringing of both boys and girls.. that doesn’t teach them to differentiate or doesn’t tell them that men are superior or crying is a girls’s thing, that boys can be out till late, but girls shouldn’t. Instead of worshipping your daughters and touching their feet on Kanjak/Ashtami, give them equal treatment and equal opportunities! Tell them they are no less and educate them so they can become independent. Instead of pampering your sons, saying “boys will be boys” and telling them that they should know how to control their wives, teach them that a man isn’t “manly” if he cannot respect a woman! When Gender Equality will start at HOME, change is inevitable! 🙏🏻 Illustration by @newindianexpress

A post shared by Kriti (@kritisanon) on Oct 1, 2020 at 2:14am PDT


माइंडसेट को बदलने की जरूरत है! पितृसत्तात्मक सोच जो सालों से लोगों के दिमाग में इतनी गहराई तक सेट है! इसे बहुत आधार से बदलने की जरूरत है! लड़के और लड़कियों दोनों की परवरिश .. जो उन्हें अंतर करना नहीं सिखाती है या उन्हें यह नहीं बताती है कि पुरुष श्रेष्ठ हैं या रोना लड़कियों की बात है, लड़के देर तक बाहर रह सकते हैं, लेकिन लड़कियों को नहीं करना चाहिए।

Bollywood Tadka


अपनी बेटियों की पूजा करने और कंजक / अष्टमी पर उनके पैर छूने के बजाय उन्हें समान उपचार और समान अवसर दें! उन्हें बताएं कि वे कम नहीं हैं और उन्हें शिक्षित करें ताकि वे स्वतंत्र हो सकें। अपने बेटों को लाड़ प्यार करने के बजाय लड़के होंगे लड़के उन्हें बता रहे हैं कि उन्हें पता होना चाहिए कि अपनी पत्नियों को कैसे कंट्रोल किया जाए, उन्हें ये सिखाएं कि एक आदमी "मर्दाना" नहीं है यदि वह एक औरत का सम्मान नहीं कर सकता है!

Bollywood Tadka


जब लिंग समानता घर पर शुरू होगी, तो परिवर्तन जरूर आएगा।''
कृति का ये पोस्ट खूब वायरल हो रहा है और लोग कमेंट कर इस पर अपनी प्रतिक्रिया भी दे रहे हैं। 


Kriti SanonangerrapegirlBalrampurHathrasBollywood Hindi NewsBollywood News and GossipBollywood Box Office Masala Hindi NewsBollywood Celebrity Hindi News
loading...