main page

कंगना के भीख वाले बयान पर गुस्साए मुकेश खन्ना,बोले-'क्रांतिकारियों की बगावत ने ही अंग्रेजों के अंदर भागने का खौफ पैदा किया तो ऐसे बयान ना दें'

Updated 22 November, 2021 04:05:00 PM

महाभारत में भीष्म पितामाह का किरदार निभा चुके दिग्गज एक्टर  मुकेश खन्ना इंडस्ट्री के उन चंद एक्टर्स में से एक हैं जो हर मुद्दे पर अपनी राय रखते हैं। वह हर मामले पर बेबाकी से अपनी राय रखते हैं। इंडस्ट्री से जुड़ा ड्रग केस हो या सैफ का राम-सीता पर दिया बयान हो या फिर शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा से जुड़ा अश्लील वीडियो मामला हो मुकेश खन्ना ने हर मुद्दे पर बेबाकी से अफनी राय रखी।

मुंबई: महाभारत में भीष्म पितामाह का किरदार निभा चुके दिग्गज एक्टर  मुकेश खन्ना इंडस्ट्री के उन चंद एक्टर्स में से एक हैं जो हर मुद्दे पर अपनी राय रखते हैं। 
वह हर मामले पर बेबाकी से अपनी राय रखते हैं।

Bollywood Tadka

इंडस्ट्री से जुड़ा ड्रग केस हो या सैफ का राम-सीता पर दिया बयान हो या फिर शिल्पा शेट्टी के पति राज कुंद्रा से जुड़ा अश्लील वीडियो मामला हो मुकेश खन्ना ने हर मुद्दे पर बेबाकी से अफनी राय रखी।

Bollywood Tadka

वहीं अब मुकेश खन्ना का गुस्सा कंगना रनौत पर फूटा है। दरअसल, कंगना ने हाल ही में कहा था कि 1947 में देश को आजादी नहीं बल्कि भीख मिली थी, असली आजादी 2014 में मिली थी। अब मुकेश खन्ना ने कंगना को उनके इस बयान के चलते घेरा है। उन्होंने कहा कि ये उनकी अज्ञानता दर्शाता है जो उन्होंने पुरस्कार मिलने के बाद आजादी को लेकर ऐसी बातें कहीं हैं। इतना ही नहीं उन्होंने कंगना को चापलूस तक कह दिया। 

 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 
 

A post shared by Mukesh Khanna (@iammukeshkhanna)

 

मुकेश खन्ना ने अपने सोशल मीडिया अकाउंट पर लिखा-'कई लोग बार-बार मुझसे कह रहे हैं कि आपने देश के इंडिपेंडेंस पर किए गए कटाक्ष पर कोई टिप्पणी नहीं दी। क्यों ?? तो मैं बताऊं, दे चुका हूं पर शायद पढ़ा नहीं गया। तो सोचा पब्लिकली ही कह दूं। मेरे हिसाब से ये स्टेट्मेंट बचकाना था। हास्यास्पद था, चापलूसी से प्रेरित था।अज्ञानता दर्शाता था या पद्म श्री अवार्ड का साइड इफेक्ट था। मैं नहीं जानता, पर सब ये जानते हैं और मानते भी हैं कि हमारा देश आजाद 1947 की 15 अगस्त को ही हुआ था। इसको अलग जामा पहनाने की कोशिश करना भी किसी के लिए मूर्खता से कम नहीं होगा।'

Bollywood Tadka

उन्होंने आगे कहा-'पर यहां मैं ये खुलासा भी करना चाहूंगा कि ये कहना या गाना कि.. दे दी हमें आजादी बिना खड़ग बिना ढाल, साबरमती के संत तूने कर दिया कमाल.. भी वास्तविकता से उतना ही दूर है जितना ऊपर वाला स्टेटमेंट है। हकीकत ये है कि अंग्रेजी हुकूमत के मन में अगर किसी ने भागने का खौफ पैदा किया तो वो था देश के असंख्य क्रांतिकारियों का बलिदान, सुभाष चंद्र बोस की आजाद हिंद फौज का डर और अपने ही सैनिकों की बगावत तो कृपया ऐसे विवादित बयान ना दें।'  

Bollywood Tadka

इससे पहले मुकेश खन्ना वीर दास के दो भारत वाले बयान पर भी गुस्सा जाहिर किया था। उन्होंने तो यहां तक कह दिया कि जितनी तालियां वीर दास को मिलीं, उतने ही कोड़े हमारे देशवासियों की तरफ से उसे मिलने चाहिए। मुकेश खन्ना ने आगे कहा, 'ये वीरदास क्या प्रूव करना चाहता है कि उसमें इतनी हिम्मत है कि पूरे देश के खिलाफ बोल सकता है। और वह भी विदेशी धरती के हॉल में अपने देश का नाम बर्बाद और यहां की बुराई कर रहे हो?'


mukesh khannakangana ranautbheekh statementBollywood NewsBollywood News and GossipBollywood Box Office Masala NewsCelebrity
loading...