FacebookTwitterg+Mail

अपने खिलाफ दर्ज मामले को रद्द कराने के लिए प्रिया प्रकाश पहुंचीं SC

priya prakash files petition on supreme court
21 February, 2018 09:33:53 AM

मुंबई: मलयालम एक्ट्रैस प्रिया प्रकाश वारियर के खिलाफ हाल ही में आपराधिक केस  दर्ज हुआ। अब उन्होंने इस केस को रद्द कराने के लिए सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल की है। फिल्म के निर्देशक ओमर अब्दुल वहाब इस मामले में सह-याचिकाकर्ता हैं। याचिका में कहा गया है कि मलयालम फिल्म 'ओरु अडार लव' के गाने 'मनिक्या मलारया पूवी' पर उठा विवाद बेमतलब है। ये मालाबार क्षेत्र के मुस्लिमों का एक लोकगीत है। इसमें पैगंबर मोहम्मद और उनकी पत्नी खदीजा के प्रेम की तारीफ की गई है। याचिका के मुताबिक गाना 1978 में कवि पीएमए जब्बार ने लिखा था। 40 साल से केरल के मुसलमान इस गाने को खुशी खुशी गाते हैं। सारा मसला गैर मलयालम भाषी लोगों की समझ का है। उन्होंने गाने का गलत अर्थ लगाया और केस दर्ज कराने शुरू कर दिए।

दोनों ने बताया है कि फिल्म अभी अधूरी है। इस पर अब तक लगभग 1.5 करोड़ रुपए खर्च हो चुके हैं। आशंका है कि गैर मलयालम भाषी दूसरे राज्यों में भी ऐसे केस दर्ज हो सकते हैं। इसलिए, सुप्रीम कोर्ट अब तक दर्ज हो चुके और भावी मुकदमों से याचिकाकर्ता को संरक्षण दे। 

आपको बता दें कि प्रिया प्रकाश मलयालम फिल्म 'ओरु अडार लव' से फिल्मों की दुनिया में कदम रखने जा रही हैं। इसी फिल्म के एक गाने 'मानिक्य मलराया पूवी' में उनका कुछ सेकेंड्स का सीन बीते दिनों सुर्खियों में रहा था। गाने में उनके आंख मारने के अंदाज के लोग कायल हो गए थे और प्रिया रातों रात स्टार बन गई थीं। मशहूर होते ही प्रिया प्रकाश विवादों में भी घिर गईं थीं क्योंकि हैदराबाद और महाराष्ट्र में उनके खिलाफ धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुंचाने का इल्जाम लगाते हुए कुछ लोगों ने मामला दर्ज करवा दिया था। 


 


priya prakash supreme court
loading...