main page

1983 वर्ल्ड कप: भारतीय क्रिकेट टीम ने क्वालीफायर मैच के बाद की रिटर्न टिकट पहले से कर ली थी बुक!

09 May, 2020 03:35:09 PM

1983 वर्ल्ड कप पर आधारित फिल्म ''83'' कई दिलचस्प पहलू दर्शकों के सामने लाने वाली है। इस बारे में खुलासा करते हुए फिल्म के निर्माता कबीर खान ने बताया कि...

नई दिल्ली। फिल्म '83' कबीर खान द्वारा निर्देशित एक आगामी भारतीय खेल ड्रामा फिल्म है जो 1983 में भारत की अविश्वसनीय क्रिकेट विश्व कप जीत की सच्ची कहानी पर आधारित है।
 भारत के विश्व कप सफर से जुड़े कई दिलचस्प पहलू और तथ्य हैं। इसी तरह, 1983 की क्रिकेट टीम के बारे में ऐसे ही एक किस्से को हाईलाइट किया गया है।


भारतीय टीम के लिए मध्य-टूर्नामेंट के दौरान ही वापसी की टिकट बुक कर दी गई थी क्योंकि किसी ने भी नहीं सोचा था कि वे 20 जून 1983 को समाप्त होने वाले ग्रुप मैचों में सफल होंगे और सेमीफाइनल 22 जून को होने वाला था। इतना ही नहीं, टीम के क्रिकेटरों में से सात, जिनमें से कुछ ने हाल ही में शादी की थी, उन्होंने ग्रुप मैच खत्म होने के तुरंत बाद ही अपनी पत्नियों के साथ छुट्टियां मनाने की योजना बना रखी थी। उन्होंने 20 जून की रात को न्यूयॉर्क के लिए अपने टिकट भी बुक किए थे।


कबीर ने बताई ये दिलचस्प कहानी
इस किस्से पर अधिक रोशनी डालते हुए कबीर खान ने साझा किया, 'यह कहानी मुझे श्रीकांत ने बताई थी कि कैसे सभी को विश्वास था कि भारत वर्ल्ड कप नहीं जीत पाएगा। यहां तक कि खुद भारतीय खिलाड़ियों को भी यही लगता था कि वे वर्ल्ड कप नहीं जीत सकते। इसके उदाहरण के तौर पर श्रीकांत ने हमें बताया कि जब उनका सिलेक्शन हुआ वे सभी बेहद खुश थे और श्रीकांत की उस समय वर्ल्ड कप से कुछ वक्त पहले यानी मार्च में ही शादी हुई थी। और जब उन्हें सिलेक्शन की खबर मिली तो उन्होंने निर्णय लिया कि वे लंदन जाकर कुछ मैच वहां खेलेंगे और फिर वहां से 10,000 रुपये और डालकर वहां से छुट्टियां मनाने के लिए न्यूयॉर्क रवाना हो जाएंगे। उन क्रिकेटर्स ने अपनी पत्नियों से भी कह दिया था ग्रुप मैच के बाद वे सभी घूमने निकल जाएंगे और इसलिए सात खिलाड़ियों ने एडवांस में ही लंदन से न्यूयॉर्क की टिकट बुक करवा रखी थी। और फिर श्रीकांत ने बताया कि कैसे एक के बाद एक मैच जीतने के बाद उन्होंने इसे गंभीरता से लिया और एक-एक कर अपनी घूमने की टिकट कैंसिल करवाते गए।


ये है इस फिल्म को बनाने की वजह
कबीर आगे कहते हैं, 'यह अब तक कि सबसे बड़ी अंडरडॉग कहानी में से एक है क्योंकि सभी को, यहां तक कि खिलाड़ियों को भी यही लगता था कि वे वर्ल्ड कप नहीं जीत सकते हैं। वर्ष 1983 से पहले भारत के पास वर्ल्ड कप के इतिहास में एक ही मैच था और वो ईस्ट अफ्रीका के खिलाफ था। और जब मैंने इन सब किस्सो के बारे में बारीकी से सुना तो मुझे लगा कि यह एक शानदार कहानी है।'


यह इस तथ्य को साबित करता है कि किसी को भी टीम द्वारा टूर्नामेंट में इतने अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद नहीं थी, यहां तक कि स्वयं भारतीय टीम को भी नहीं थी। लेकिन न केवल टीम इंडिया ने अच्छा प्रदर्शन किया, बल्कि पूरे टूर्नामेंट को जीतने के साथ-साथ क्रिकेट के इतिहास में अपने लिए जगह बनाने में भी कामयाब रही।


1983 के विश्व कप में भारत की ऐतिहासिक जीत से पहले, भारत उस समय खेल के क्षेत्र में ग्लोबल मैप के अस्तित्व में भी नहीं था और किसी को भी उम्मीद नहीं थी कि टीम इंडिया अकेले विश्व कप जीतने के लिए इतना अच्छा परफॉर्म करेगी।


एक अद्भुत अनुभव की साक्षी बनेगी ये फिल्म
फिल्म की रिलीज के साथ, दर्शकों को एक अद्भुत अनुभव और 'कपिल के डेविल्स' के सफर का साक्षी बनाया जाएगा।
कबीर खान फिल्म्स प्रोडक्शन की '83' रिलायंस एंटरटेनमेंट और फैंटम फिल्म्स द्वारा प्रस्तुत है। फिल्म दीपिका पादुकोण, कबीर खान, विष्णु वर्धन इंदुरी, साजिद नाडियाडवाला, फैंटम फिल्म्स, रिलायंस एंटरटेनमेंट और 83 फिल्म लिमिटेड द्वारा निर्मित है। रिलायंस एंटरटेनमेंट और पीवीआर पिक्चर्स की इस रिलीज को हिंदी, तमिल और तेलुगु में रिलीज किया जाएगा।


1983 world cup1983 world cup indian cricket teamfilm 83ranveer singhdeepika padukonekabir khankapil dev1983 वर्ल्ड कपफिल्म 83
loading...