main page

'प्लीज मेरा गला घोंटकर मार दें' पाई-पाई की मोहताज सविता बजाज ने मांगी मौत की भीख

Updated 16 July, 2021 09:56:01 AM

डेडली वायरस के कोरोना की वजह से जान और आर्थिक दोनों ही नुकसान हुआ। कोरोना के चलते लगाए गए लॉकडाउन ने कई लोगों से उनका काम छीन लिया है। बी-टाउन इंडस्ट्री के छोटे कलाकारों से लेकर कई एक्टर्स से उनकी रोजी-रोटी छिन गई है। हाल ही में दिग्गज एक्ट्रेस सविता बजाज ने भी खुलासा किया वह आर्थिक तंगी से जूझ रही

मुंबई: डेडली वायरस के कोरोना की वजह से जान और आर्थिक दोनों ही नुकसान हुआ। कोरोना के चलते लगाए गए लॉकडाउन ने कई लोगों से उनका काम छीन लिया है। बी-टाउन इंडस्ट्री के छोटे कलाकारों से लेकर कई एक्टर्स से उनकी रोजी-रोटी छिन गई है। हाल ही में दिग्गज एक्ट्रेस सविता बजाज ने भी खुलासा किया वह आर्थिक तंगी से जूझ रही हैं। उन्होंने इस स्थिति से परेशनार होकर अपने लिए मौत तक मांगी।

Bollywood Tadka

उन्होंने एंबुलेंस के स्ट्रेचर पर मौत की भीख मांगते हुए कहा-'मेरा गला घोंटकर मुझे मार दो। मुझे ऐसी जिंदगी नहीं जीनी है। इससे बेहतर ये है कि मैं मर जाऊं। मेरा इस दुनिया में कोई नहीं है, जो मुझे संभाले। बता दें कि सविता बजाज को बिगड़ी सेहत और बीमारियों के चलते आए दिन हाॅस्पिटल जाना पड़ रहा है। इनता ही नहीं वह 22 दिन तक हाॅस्पिटल में एडमिट भी रही है।' 

Bollywood Tadka

हाल ही में एक इंटरव्यू के दौरान सविता बजाज ने लाॅकडाउन की वजह से हुई आर्थिक तंगी कर बात की थी। उन्होंने  बताया कि उनकी मदद के लिए राइटर्स एसोसिएशन और CINTAA (सिने एंड टेलीविजन आर्टिस्ट एसोसिएशन) की तरफ से जो मदद मिल पा रही हैं, उसी से गुजारा चल रहा है।  CINTAA की तरफ से पांच हजार रुपये की मदद मिलती है, जिससे वह गुजारा कर रही हैं लेकिन उम्र के साथ बढ़ती बीमारियों ने उनकी चिंता को बढ़ा दिया है।

Bollywood Tadka

 

परिवार वाले नहीं रख रहे हैं साथ


एक्ट्रेस ने आगे कहा-'दुख की बात है कि मेरा ध्यान रखने वाला भी कोई नहीं है। 25 साल पहले मैंने फैसला किया था कि मैं अपने होमटाउन दिल्ली वापस लौट जाऊंगी। लेकिन मेरे परिवार में से कोई भी मुझे साथ नहीं रखना चाहता। मैंने बहुत कमाया। बहुत जरूरतमंदों की मदद की पर आज मुझे मदद की जरूरत है।'

Bollywood Tadka

अपनी बात जारी रखते हुए दिग्गज एक्ट्रेस सविता ने कहा-'इतने सालों तक काम करने के बाद भी मुंबई में मेरा अपना कोई घर नहीं है। मैं चाहती हूं कि कोई मेरे जैसे उन सीनियर एक्टरों के लिए ओल्ड एज होम बनाएं जो खुद पर निर्भर हैं। मैं मलाड में एक रूम किचन में रहती हूं और सात हजार किराया देती हूं। मैं पैसे नहीं मांगना चाहती पर अब मेरे लिए मैनेज करना बहुत मुश्किल हो रहा है।'काम की बात करें तो सविता बजाज निशांत, नजराना, बेटा हो तो ऐसा, उसकी रोटी और आनंद फिल्मों  में नजर आ चुकी हैं। 


savita bajajfinancial crisisBollywood NewsBollywood News and GossipBollywood Box Office Masala NewsCelebrity
loading...