main page

मकोका कानून की रडार पर आने से बच गईं जैकलीन और नोरा, 'महाठग' सुकेश चंद्रशेखर ने दिए थे करोड़ों के तोहफे

Updated 24 January, 2022 11:32:54 AM

बाॅलीवुड एक्ट्रेस जैकलीन फर्नांडीज और नोरा फतेही बीते कई महीनों से ''महाठग'' सुकेश चंद्रशेखर के मामले के चलते सुर्खियों में हैं। वहीं अब खबरें है कि पुलिस जैकलीन फर्नांडीज और नोरा फतेही पर मकोका के तहत कार्रवाई चाहती हैं लेकिन लीगल सेल ने हरी झंडी नहीं दी।दरअसल, रोहिणी जेल से ठगी का मायावी जाल फैलाने वाले ''महाठग'' सुकेश चंद्रशेखर और उनकी पत्नी एक्ट्रेस लीना मारिया समेत 11 के खिलाफ मकोका (महाराष्ट्र कंट्रोल ऑफ ऑर्गनाइज्ड क्राइम एक्ट 1999) के तहत चार्जशीट दाखिल हुई है।

मुंबई: बाॅलीवुड एक्ट्रेस जैकलीन फर्नांडीज और नोरा फतेही बीते कई महीनों से 'महाठग' सुकेश चंद्रशेखर के मामले के चलते सुर्खियों में हैं। वहीं अब खबरें है कि 
पुलिस जैकलीन फर्नांडीज और नोरा फतेही पर मकोका के तहत कार्रवाई चाहती हैं लेकिन लीगल सेल ने हरी झंडी नहीं दी।

Bollywood Tadka

दरअसल, रोहिणी जेल से ठगी का मायावी जाल फैलाने वाले 'महाठग' सुकेश चंद्रशेखर और उनकी पत्नी एक्ट्रेस लीना मारिया समेत 11 के खिलाफ मकोका (महाराष्ट्र कंट्रोल ऑफ ऑर्गनाइज्ड क्राइम एक्ट 1999) के तहत चार्जशीट दाखिल हुई है।

Bollywood Tadka

यह आरोप पत्र दिसंबर 2021 में पटियाला हाउस कोर्ट में पेश की गई। पुलिस सूत्रों का दावा है कि आर्थिक अपराध शाखा (EOW) एक्ट्रेस जैकलीन फर्नांडीजऔर नोरा फतेही पर भी मकोका लगाना चाहती थी। लेकिन लीगल सेल ने हरी झंडी नहीं दी।

Bollywood Tadka

ओपिनियन थी कि दोनों को गिफ्ट दिए गए थे। गिफ्ट किस पैसे से दिया जा रहा है उसकी जानकारी होना जरूरी नहीं है। इस तरह से दोनों मकोका सरीखे सख्त कानून के दायरे में आने से बच गईं।


क्या है मकोका?

मकोका यानी महाराष्ट्र संगठित अपराध नियंत्रण कानून। इसके तहत उन अपराधियों पर कार्रवाई की जाती है जो संगठित अपराध का हिस्सा हों। 90 के दशक में महाराष्ट्र में अपराध और अपराधी दोनों बढ़ गए थे। तब ऐसे कानून की जरूरत महसूस की जा रही थी जो संगठित अपराधों को रोकने में मदद करे. ऐसे में महाराष्ट्र सरकार ने मकोका बनाया। ऐसे अपराध जिन्हें अकेले करना संभव नहीं होता और जिन्हें अंजाम देने के लिए प्लानिंग की जरूरत होती है उन्हें रोकने के लिए ये लॉ 1999 में लागू कर दिया गया। साल 2002 में दिल्ली सरकार ने भी मकोका को राजधानी में लागू कर दिया था। इसे काफी सख्त और कड़ा कानून माना जाता है। IPC की धाराओं में जब किसी के खिलाफ केस दर्ज किया जाता है तो अपराधी इनका तोड़ निकाल लेते हैं और बच निकलते हैं लेकिन मकोका के तहत नामजद होने पर आरोपी को आसानी से जमानत नहीं मिलती। बताया जाता है कि ये कानून उन अपराधियों के सिंडिकेट को तोड़ने और सजा दिलाने में सक्षम था, जो आदतन अपराध करते हैं।

Bollywood Tadka

जैकलीन और नोरा पर लुटाए करोड़ों

एनफोर्समेंट डिपार्टमेंट (ईडी) ने भी मनी लॉन्ड्रिंग के तहत केस दर्ज में सुकेश और लीना समेत आठ के खिलाफ दिसंबर 2021 के पहले हफ्ते में कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी थी। ईडी ने अपनी चार्जशीट में दावा किया है कि एक्ट्रेस जैकलीन फर्नांडीज और उसकी फैमिली पर सुकेश ने 10 करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च किए। जैकलीन, उसकी बहन, भाई और माता-पिता को मोटी रकम के अलावा महंगे तोहफे दिए। वह अंतरिम जमानत पर बाहर आया और चार बार जैकलीन से में मिला। जैकलीन के लिए चार्टेड प्लेन बुक करने में 8 करोड़ खर्च किए।


 


sukesh chandrashekarcasejacqueline fernandeznora fatehimcocaBollywood NewsBollywood News and GossipBollywood Box Office Masala NewsBollywood Celebrity
loading...