main page

Review: मां- बेटी के रिश्ते के बीच तीखी टकरार की कहानी है त्रिभंग

15 January, 2021 07:08:25 PM

तीन पीढ़ियों के मां-बेटी के रिश्ते में प्यार और टकरार की कहानी के साथ आज नेटफ्लिस पर रिलीज हो चुकी है रेणुका शहाणे की फिल्म त्रिभंग...

फिल्म: त्रिभंग
डायरेक्टर: रेणुका शहाणे
स्टारकास्ट: काजोल, मिथिला पालकर, तन्वी आजमी, कुणाल रॉय कपूर
स्टार: 3.5*स्टार

नई दिल्ली। तीन पीढ़ियों के मां-बेटी के रिश्ते में प्यार और टकरार की कहानी के साथ आज नेटफ्लिस पर रिलीज हो चुकी है रेणुका शहाणे की फिल्म त्रिभंग।

कहानी
फिल्म की कहानी अस्पताल से शुरु होती है जहां बिस्तर पर नयनतारा आप्टे (तन्वी आजमी) लेटी रहती हैं। नयनतारा की एक बेटी हैं जिसका नाम अनुराधा आप्टे (काजोल) हैं।नयनतारा और अनुराधा दोनों की लाइफ कुछ सही नहीं चलती है। दोनों की ही जिंदगी में पुरुषों का आना जाना लगा रहता है। आसान शब्दों में कहें तो दोनों को ही अपने शर्तों पर जिंदगी जीने की आदत हैं वो अपने आपको किसी भी चीज में बांधे नहीं रखना चाहती हैं।

अनुराधा एक एकट्रेस और ओडिशी डांसर रहती हैं।अपने इसी काम के बीच वो एक रूसी युवक के साथ लिव इन में रहना शुरू कर देती है। जिसके बाद वो प्रेग्नेंट हो जाती है  और ऐसे अनुराधा को एक बेटी होती है। अनुराधा बेटी के जन्म के बाद भी वो शादी के बंधन में बंधना नहीं चाहती इसलिए वो विवाह नहीं करती हैं।अपनी मां और नानी की ऐसी जिंदगी देखने के बाद माशा अपने आपको इनसबसे अलग रखती हैं वो अपनी नानी और मां दोनों से ही अलग हैं। अब इन तीनों की जिंदगी में कौन कौन से मोड़ आते हैं ये देखने के लिए आपको सीरीज देखनी पड़ेगी।रेणुका शहाणे की ये कहानी जितनी सरल दिखती है उनती है नहीं। ये फिल्म जितनी ही गंभीर है उतनी है इंटरस्टिंग भी हैं। फिल्म आपको कहीं भी बोर नहीं करेगी। 

एक्टिंग
इस फिल्म से ओटीटी पर अपना पहला डेब्यू कर चकी बॉलीवुड एक्ट्रेस काजोल ने अपनी एक्टिंग से फिल्म में एक अलग जान डाल दी है। वहीं फिल्म में काजोल की मां और बेटी का किरदार निभा रही तन्वी आजमी और मिथिला पालकर ने भी अपने किरदार के साथ पूरा इंसाफ किया है। फिल्म में राइटर का किरदार निभा रहे कुणाल राय कपूर ने भी अपने रोल को बखूबी से निभाया है।

डायरेक्शन
त्रिभंग की कहानी और फिल्म में काम करने वाले सितारों ने अपनी एक्टिंग से दर्शकों को बांधे रखा। वहीं इस फिल्म से  रेणुका शहाणेने अपनी पहली फिल्म होने के कारण किसी भी तरह की कमी नहीं रहने दी। बतौर डायरेक्टर बॉलीवुड में डेब्यू अपने डायरेक्टर वाले हुनर को साबित कर दिखाया है। फिल्म में घटनाओं के साथ भावनाओं को भी दिखाया गया है।


Tribhanga ReviewKajolKajol TribhangaTanvi AzmiMithila PalkarKunaal Roy Kapurत्रिभंगकाजोलत्रिभंग रिव्यूकाजोल की फिल्म त्रिभंग
loading...