main page

महिलाओं को लेकर दिए विवादित बयान पर बोले मुकेश खन्ना, चिंता नहीं कि महिलाएं मेरे खिलाफ हो जाएं

02 November, 2020 08:40:28 AM

वेटरन एक्टर मुकेश खन्ना इन दिनों अपने बयानों की वजह से काफी सुर्खियों में हैं।  हाल ही में उनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था, जिसमें उन्होंने महिलाओं को लेकर विवादित बयान दिया था। मुकेश खन्ना ने कहा था कि मीटू जैसे मुद्दों को जन्म देने की जिम्मेदार सिर्फ महिलाएं ही हैं। उन्होंने कहा था कि मीटू जैसे मुद्दे तब उठना शुरू हुए जब महिलाओं ने रसोई घर छोड़ना शुरू कर दिया।

मुंबई: वेटरन एक्टर मुकेश खन्ना इन दिनों अपने बयानों की वजह से काफी सुर्खियों में हैं।  हाल ही में उनका एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा था, जिसमें उन्होंने महिलाओं को लेकर विवादित बयान दिया था। मुकेश खन्ना ने कहा था कि मीटू जैसे मुद्दों को जन्म देने की जिम्मेदार सिर्फ महिलाएं ही हैं। उन्होंने कहा था कि मीटू जैसे मुद्दे तब उठना शुरू हुए जब महिलाओं ने रसोई घर छोड़ना शुरू कर दिया। एक्टर के इस बयान के बाद उन्हें जमकर ट्रोल किया जा रहा है। वहीं अब मुकेश खन्ना ने वायरल हो रहे अपने वीडियो को लेकर लंबी पोस्ट लिखकर सफाई दी है।

Bollywood Tadka

मुकेश खन्ना ने सोशल मीडिया पर एक वीडियो शेयर किया है। जिसमें वह मीटू से लेकर महिला सुरक्षा सहित कई मुद्दे पर अपनी बात रखी। एक्टर ने कहा कि जो वीडियो वायरल हुआ है, वो सिर्फ एक अंश है और उसके आधार पर गलत नहीं ठहराया जा सकता। उन्होंने अपनी पोस्ट में कहा है कि वह महिलाओं का काफी सम्मान करते हैं। मुकेश खन्ना ने वीडियो के साथ लिखा- 'मुझे सचमुच हैरानी हो रही है कि मेरे एक स्टेटमेंट को बहुत ही गलत तरीके से लिया जा रहा है। मुझे औरतों के खिलाफ बताया जा रहा है। जितनी इज्जत मैं नारियों की करता हूं शायद ही कोई करता होगा इसीलिए मैंने लक्ष्मी बम नाम का विरोध किया। मैं नारियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हूं। हर रेप कांड के खिलाफ मैं बोला हूं। मेरे एक इंटरव्यू की क्लिपिंग को लेकर कुछ लोगों ने शोर मचा दिया है। मैंने कभी नहीं कहा कि औरतों को काम नहीं करना चाहिए। मैं सिर्फ ये बताने जा रहा था कि मीटू की शुरुआत कैसे होती है।

Punjab Kesari

 

हमारे देश में औरतों ने हर फील्ड में अपनी जगह बनाई है। फिर चाहे वो डिफेंस मिनिस्टर हो, फाइनेंस मिनिस्टर हो, विदेश मंत्री हो या स्पेस में हो हर जगह नारी ने अपना परचम लहराया है। तो मैं नारी के काम करने के खिलाफ कैसे हो सकता हूं। उस वीडियो इंटरव्यू में मैं सिर्फ नारी के बाहर जाकर काम करने से क्या दिक्कतें आ सकती हैं उस पर रोशनी डाल रहा था। जैसे घर के बच्चे अकेले पड़ जातें हैं। मैं पुरुष और नारी धर्म की बात कर रहा था जो हजारों सालों से चला आ रहा है।'

Bollywood Tadka

मुकेश खन्ना ने आगे लिखा- 'मैंने ये नहीं कहा कि नारी बाहर जाती है तो मीटू होता है। मैंने एक साल पहले इसी टॉपिक पर एक वीडियो बनाई थी जो मैं आप लोगों को दिखाना चाहता हूं कि तब भी मैंने यही कहा था कि नारियों को अपने काम काने की जगह पर अपनी सुरक्षा कैसे करनी चाहिये। मैंने तब भी नहीं कहा कि नारियां काम पर ना जाएं। तो आज कैसे कह सकता हूं। मैं अपने सभी दोस्तों से यही कहना चाहता हूं कि मेरे स्टेटमेंट को गलत तरीके से मत पेश करें। मेरा पिछला चालीस साल, मेरा फिल्मी सफर इस बात की पुष्टि करता है मैंने हमेशा नारियों की इज्जत की है। इस बात को हर कलाकार या हर फिल्म यूनिट का मेंबर जानता है कि मैंने हमेशा सबकी इज्जत की है।अगर कोई भी नारी मेरे इस स्टेट्मेंट से आहत हुई हो तो मुझे अफसोस है कि मैं अपनी बात सही ढंग से नहीं रख पाया। मुझे इस बात की चिंता नहीं कि नारी समाज मेरे खिलाफ हो जाएंगी। उन्हें होना भी नहीं चाहिए। मेरी जिंदगी खुली किताब है। सब जानते हैं कि मैंने कैसे जिदगी जी है और कैसे जी रहा हूं।'

View this post on Instagram

मुझे सचमुच हैरानी हो रही है कि मेरे एक स्टेट्मेंट को बहुत ही ग़लत तरीक़े से लिया जा रहा है। मुझे औरतों के ख़िलाफ़ बताया जा रहा है। जितनी इज़्ज़त मैं नारियों की करता हूँ शायद ही कोई करता होगा। इसीलिए मैंने LAXMI BOMB नाम का विरोध किया। मैं नारियों की सुरक्षा को लेकर चिंतित हूँ। हर रेप कांड के ख़िलाफ़ मैं बोला हूँ।मेरे एक इंटर्व्यू की क्लिपिंग को लेकर कुछ लोगों ने शोर मचा दिया है। मैंने कभी नहीं कहा कि औरतों को काम नहीं करना चाहिए। मैं सिर्फ़ ये बताने जा रहा था कि Me Too की शुरुआत कैसे होती है। हमारे देश में औरतों ने हर फ़ील्ड में अपनी जगह बनाई है। फिर चाहे वो डिफ़ेन्स मिनिस्टर हो, फ़ाइनैन्स मिनिस्टर हो , विदेश मंत्री हो या स्पेस में हो हर जगह नारी ने अपना परचम लहराया है। तो मैं नारी के काम करने के ख़िलाफ़ कैसे हो सकता हूँ। उस विडीओ इंटर्व्यू में मैं सिर्फ़ नारी के बाहर जाकर काम करने से क्या दिक़्क़तें आ सकती हैं उस पर रोशनी डाल रहा था। जैसे घर के बच्चे अकेले पड़ जातें हैं। मैं पुरुष और नारी धर्म की बात कर रहा था जो हज़ारों सालों से चला आ रहा है। मैंने ये नहीं कहा कि नारी बाहर जाती है तो Me Too होता है। मैंने एक साल पहले इसी टॉपिक पर एक विडीओ बनाई थी जो मैं आप लोगों को दिखाना चाहता हूँ कि तब भी मैंने यही कहा था कि नारियों को अपने काम काने की जगह पर अपनी सुरक्षा कैसे करनी चाहिये। मैंने तब भी नहीं कहा कि नारियाँ काम पर ना जाएँ। तो आज कैसे कह सकता हूँ। मैं अपने सभी दोस्तों से यही कहना चाहता हूँ कि मेरे स्टेट्मेंट को ग़लत तरीक़े से मत पेश करें। मेरा पिछला चालीस साल, मेरा फ़िल्मी सफ़र इस बात की पुष्टि करता है मैंने हमेशा नारियों की इज़्ज़त की है। इस बात को हर कलाकार या हर फ़िल्म यूनिट का मेम्बर जानता है कि मैंने हमेशा सबकी इज़्ज़त की है।अगर कोई भी नारी मेरे इस स्टेट्मेंट से आहत हुई हो तो मुझे अफ़सोस है कि मैं अपनी बात सही ढंग से नहीं रख पाया। मुझे इस बात की चिंता नहीं कि नारी समाज मेरे ख़िलाफ़ हो जाएगा। उन्हें होना भी नहीं चाहिए।मेरी ज़िंदगी खुली किताब है। सब जानते हैं कि मैंने कैसे ज़िंदगी जी है और कैसे जी रहा हूँ। मैं अपना वही इंटर्व्यू आपको पूरा दिखाना चाहता हूँ जिसमें से ये क्लिपिंग ली गई है। आपको पता चलेगा मैं नारियों के प्रति क्या विचार रखता हूँ।

A post shared by Mukesh Khanna (@iammukeshkhanna) on

 

बता दें कि वीडियो में मुकेश खन्ना ने कहा था- 'मर्द अलग होता है और औरत अलग होती है। औरत की रचना अलग होती है और मर्द की रचना अलग होती है। औरत का काम घर संभालना होता है। ये मी टू की प्रॉब्लम शुरू तब हुई जब महिलाओं ने घर से बाहर निकलकर काम करना शुरू किया। वे आज पुरुषों संग कंधे से कंधा मिलाकर काम करना चाहती हैं।'


mukesh khannaslammedmetooremarkBollywood NewsBollywood News and GossipCelebrityLatest Television NewsTV Celebs Actors Gossip NewsTV Entertainment NewsTV Reality shows Updates
loading...