FacebookTwitterg+Mail

29000 कर्मियों को मिलेगी नई ड्रेस

13 December, 2013 10:17:34 PM

नई दिल्ली: पिछले 10 सालों से बिना ड्रेस के कार्यरत निगम के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को फरवरी माह में नई ड्रेस मिल सकेगी। दक्षिणी दिल्लीनगर निगम ने कर्मचारियों को नई ड्रेस मुहैय्या कराने के लिए मुफ्तलाल इंडस्ट्री को ठेका सौंपा है।

मुफ्तलाल इंडस्ट्री दक्षिणी निगम के 29567 चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों को ड्रेस उपलब्ध कराएगी। 29 हजार कर्मचारियों को दी जाने वाली ड्रेस पर निगम को करीब साढ़े चौदह करोड़ रुपए खर्च करने पड़ेंगे। दिलचस्प यह है कि निगम ने इस ड्रेस का डिजाइन फाइनल कराने के लिए वजीर एडवटाईजर प्रा. लि. पर कंसल्टेंसी के नाम पर 34 लाख रुपए खर्च कर दिए है।

निगम के चतुर्थ श्रेणी के 21323 पुरुष कर्मचारियों को सर्दी के मौसम में नीले कलर की फुल साईज एक शर्ट, ब्लैक वैलून पेंट, जर्सी, जुराब, लैदर का जूता और एक टोपी दी जाएगी।  वहीं 8244 महिला कर्मचारियों को वलून की फुल साईज सलवार-कमीज, दुपट्टा, स्पोर्ट शूज, जुराब और एक टोपी दी जाएगी।

गर्मी के मौसम में पुरुष कर्मचारियों को हाफ पेंट-शर्ट, सेंडल, एक टोपी तथा महिलाओं को सलवार कमीज, दुपट्टा, सेंडल और टोपी दी जाएगी। खास बात यह है कि करीब 10 साल बाद तीन नगर निगम बनने के बाद यह ड्रेस दी जा रही है। निगम के चुतर्थ श्रेणी कर्मचारियों को अब तक ड्रेस के बदले पैसा भी नहीं दिया गया है।

वहीं पूर्वी दिल्ली नगर निगम भी अपने 13 हजार कर्मचारियों की नई ड्रेस के लिए दोबारा से टेंडर करने जा रही है। पूर्वी दिल्ली नगर निगम ने नई ड्रेस के लिए जून माह में टेंडर किया था। टेंडर में एक ही एजेंसी के आने की वजह से इस टेंडर को रद्द कर दिया गया। बतातें चलें कि पिछले वर्ष पूर्वी दिल्ली नगर निगम के तत्कालीन आयुक्त एसएस यादव ने निगम के ढाई हजार स्कूली छात्र और 13 हजार चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों के लिए ड्रेस देने का ऐलान किया था।


दक्षिणी दिल्ली कंसल्टेंसी टेंडर मुफ्तलाल इंडस्ट्री
loading...