FacebookTwitterg+Mail

कमाई बताकर नाम कमाने की जरूरत नहीं : हिरानी

19 November, 2014 01:47:35 AM

आमिर खान की फिल्म ‘पीके’ 19 दिसंबर को रिलीज होने वाली है। फिल्म के डायरेक्टर राजकुमार हिरानी फिल्म के प्रोमोशन के लिए पंजाब केसरी सूमह के समाचार पत्र ‘नवोदय टाइम्स’ के दफ्तर पहुंचे। उन्होंने ‘पीके’ के बारे में सस्पेंस को यहां भी कायम रखा। हां, इतना जरूर खुलासा किया कि फिल्म में अनुष्का जर्नलिस्ट के किरदार में हैं, जो टीवी चैनल के लिए काम करती हैं। उनकी बाकी फिल्मों की तरह इसमें भी एक बड़ा मैसेज है। जब दर्शक फिल्म को पर्दे पर देखेंगे, तो वह अलग तरह का  एक्सपीरियंस होगा। हिरानी ने ‘पीके’ समेत कई और मसलों पर खुलकर  राय रखी। 

 
 
 
दुनिया नहीं बदल सकती फिल्में 
राजकुमार हिरानी का कहना है कि फिल्में दुनिया नहीं बदल सकती, पर चंद लोगों को जरूर बदल सकती है। वह कहते हैं, ‘हमारे पास कोई मीटर नहीं है, पर अनसाइंटिफिक-वे में इतना जरूर कह सकते हैं कि थ्री इडियट्स जैसी फिल्में चंद लोगों को छू गई।’ वह एक वाकया सुनाते हैं, ‘मैं मुंबई यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर से मिला। उन्होंने भी कहा कि थ्री इडियट्स में आपने सही दिखाया है। हमारे क्लास रूम का मॉडल बहुत पुराना हो चुका है।’ हिरानी कहते हैं, ‘मुझे हमेशा से लगता है कि एजुकेशन इस देश में गलत है। जिंदगी का एक तिहाई हिस्सा हम पढ़ाई में लगा देते हैं, फिर बाकी बची जिंदगी नौकरी बचाने में गुजार देते हैं। मैं कहता हूं कि भाषा सिखाओ, कहानियों के जरिये सीख दो। आज एक क्लिक पर ज्ञान का पूरा भंडार खुल जाता है।’ उन्होंने थ्री इडियट्स का पुराना जुमला दोहराया, ‘आप काबिल बनो, कामयाबी तो अपने आप आएगी।’ वह कहते हैं कि हम बच्चों से कभी नहीं पूछते कि वह क्या बनना चाहते हंै। हमारा जोर होता है कि डिग्रियां लो। वह आमिर के हेयर स्टाइलिस्ट ननो की कहानी सुनाते हैं। हिरानी के मुताबिक, ‘मणिपुर के रहने वाले ननो नागपुर में इंजीनियरिंग पढऩे आए थे। पढ़ाई में दिल नहीं लगता था। हेयर कट करना उन्हें अच्छा लगता था, तो माता-पिता को बताए बगैर वह हॉस्टल के छात्रों के बाल काटते थे। आज वह बॉलीवुड के टॉप हेयर स्टाइलिस्ट हैं। अच्छे पैसे कमाते हैं।’
 
पहलवान की लंगोट इससे छोटी 
क्या फिल्म को चर्चा में लाने के लिए ‘पीके’ के विवादित पोस्टर जारी किए गए? इस सवाल पर हिरानी कहते हैं, ‘हमें फिल्म बेचने की जरूरत नहीं है। अगर फिल्म बेचने की जरूरत होती तो 5 साल में कई फिल्में बना लेता। लोग ‘पीके’ के पोस्टर में नग्नता की बात करते हैं, मुझे तो कोई नग्नता नहीं दिखती। आप अखाड़े के पहलवान को देखिए, उनकी लंगोट  इससे छोटी होती है। पता नहीं लोगों को ट्रांजिस्टर के पीछे से कैसे नग्नता दिख रही है। अगर ये पोस्टर गलत है, तो फिर आपको कामसूत्र और खजुराहो को भी नष्ट कर देना चाहिए।’ वह कहते हैं, ‘बच्चा तो नंगा ही पैदा होता है, शर्म तो हम उसमें डालते हैं।’ 
 
करोड़ क्लब में यकीन नहीं
शाहरूख की हाल में आई फिल्म ‘हैप्पी न्यू ईयर’ ने ‘थ्री इडियट्स’ की कमाई के रिकॉर्ड को पीछे छोड़ दिया है, तो क्या ‘पीके’ नया रिकॉर्ड बना पाएगी? इस सवाल पर हिरानी कहते हैं, ‘जब थ्री इडियट्स के बिजनेस के आंकड़े आए, तो हमने कहीं ये एड नहीं दिया था कि हमने इतनी कमाई कर ली है। कमाई के बारे में बताना फिल्म को नीचा दिखाना है। लोग फिल्म को पसंद करें, यही काफी है।’ वह कहते हैं कि एक वक्त के बाद लोग बिजनेस को नहीं, बल्कि फिल्म को ही याद रखते हैं। उनका कहना है, ‘पीके का क्या होगा, कह नहीं सकते। हर फिल्म के पहले मैं नर्वस हो जाता हूं, पर इतना जरूर कहूंगा कि मैंने कुछ अच्छा किया है और फिल्म अच्छी बनी है।’ वह मुन्ना भाई एम.बी.बी.एस. का जिक्र करते हुए कहते हैं, ‘उस दौरान यशराज, करण जौहर जैसों की बड़ी फिल्में बना करती थी। मुन्नाभाई का बजट छोटा था। कई लोगों ने कहा कि गाने को मुंबई में क्यों, स्विटजरलैंड में फिल्माना चाहिए था। फिल्म की ओपनिंग भी अच्छी नहीं रही थी, लेकिन बाद में हिट साबित हुई।  
 
गांधी का किरदार
गांधी को विजुअलाइज करने के सवाल पर हिरानी बताते हैं, ‘मैंने भी गांधी के बारे में उतना ही पढ़ा था, जितना कि स्कूल में बच्चे पढ़ते हैं। एटनबरो की फिल्म देखने के बाद गांधी को पढऩे में मजा आने लगा। गांधी पर फिल्म बनाने का दिल करता था, पर फिल्म पहले ही बन चुकी थी। फिर ये आइडिया आया कि एक ‘भाई’ गांधी से मिल जाए तो नॉन वायलेंस तरीके की फिल्म बन सकती है। उसके बाद मुन्ना भाई पर काम शुरू किया, जो शायद शानदार बनी।’
 
कमाई से ज्यादा चर्चा
भारी-भरकम कमाई के बावजूद फिल्म इंडस्ट्री समाज के लिए क्या कर रही है, इस सवाल पर राजकुमार हिरानी का कहना है, ये सिर्फ परसेप्शन है कि इंडस्ट्री बहुत कमा रही है, जबकि 5000-6000 करोड़ से ज्यादा का टर्नओवर नहीं है, जो कि किसी भी इंडस्ट्री के लिए बहुत छोटी रकम है। यहां बड़े लोग उंगलियों पर गिने जा सकते हैं, बाकी सभी कामगार के तौर पर जुड़े हैं। फिर भी हर आदमी अपनी क्षमता के मुताबिक निजी तौर पर काफी कुछ कर रहा है, जिसकी कहीं चर्चा नहीं होती है। 
 
बोनस में आमिर की बॉडी
इस फिल्म के लिए आमिर खान के बॉडी बनाने की भी खबर है, इस पर हिरानी का कहना है कि धूम-3 के लिए उन्होंने बॉडी बनाई थी। पीके के लिए उनकी बॉडी बोनस की तरह है। उसे मैंटेन करने के लिए वह रोज सुबह दो घंटे एक्सरसाइज करते हैं। हमने सिर्फ ये कहा कि आप उठते ही एक्सरसाइज नहीं करें।
 
तरह-तरह के कयास
फिल्म में आमिर के किरदार को लेकर तरह-तरह के कयास लगाए जा रहे हैं। राजकुमार हिरानी बताते हैं, जब हमने पहला पोस्टर रिलीज किया, उसके तुरंत बाद लोग कैरिकेचर, जोक्स बनाने लगा। कोई इस कैरेक्टर को एलियन, मेंटल या जेंडर डिसऑर्डर बताने लगा। ठरकी छोकरो गाने पर भी इसी तरह के कयास लगाए जा रहे हैं, पर फिल्म देखने पर लोग इसके महत्व को समझ जाएंगे।
 
कभी सेट पर नहीं आए विराट
‘पीके’ की चर्चा के साथ-साथ इन दिनों फिल्म की हीरोइन अनुष्का और क्रिकेटर विराट कोहली के अफेयर की चर्चा भी गर्म है। फिल्म के प्रोमोशन के लिए अनुष्का जहां भी जा रही हैं, वहां उनके किरदार से ज्यादा अफेयर पर सवाल पूछे जा रहे हैं, तो क्या इससे फिल्म के प्रोमोशन पर असर पड़ रहा है? हिरानी कहते हैं, ‘विराट कोहली फिल्म के सेट पर कभी नहीं आए।’

आमिर खान पीके राजकुमार हिरानी Aamir Khan PK Rajkumar Hirani
loading...