main page

जब मासूम बच्चों और पत्नी को छोड़ संन्यासी बने विनोद खन्ना,करियर के टॉप पर पहुंच पहना था भगवा चोला

06 October, 2020 02:25:26 PM

बॉलीवुड एक्टर विनोद खन्ना का आज बर्थडे है। चाहे एक्टर आज हमारे साथ नही हैं। पर उनकी यादें हमेशा जिंदा रहेंगी। विनोद का जन्म 6 अक्टूबर 1946 को पेशावर में हुआ। विनोद कॉलेज के दिनों में बहुत हैंडसम हुआ करते थे। उनके साथ पढ़ने वाली लड़कियों ने उन्हें एक्टिंग में हाथ आजमाने को कहा औऱ विनोद को भी आईडिया अच्छा लगा।

मुंबई. बॉलीवुड एक्टर विनोद खन्ना का आज बर्थडे है। चाहे एक्टर आज हमारे साथ नही हैं। पर उनकी यादें हमेशा जिंदा रहेंगी। विनोद का जन्म 6 अक्टूबर 1946 को पेशावर में हुआ। विनोद कॉलेज के दिनों में बहुत हैंडसम हुआ करते थे। उनके साथ पढ़ने वाली लड़कियों ने उन्हें एक्टिंग में हाथ आजमाने को कहा औऱ विनोद को भी आईडिया अच्छा लगा। आइए एक्टर के जन्मदिन पर जानते हैं उनसे जुड़ी खास बातें....

Bollywood Tadka
विनोद के करियर की बात करे तो एक्टर बॉलीवुड में एंट्री विलेन के तौर पर की थी। विनोद ने फिल्म 'मन का मीत' से हिंदी सिनेमा में कदम रखा। इसमें हीरो सुनील दत्त और खलनायक की भूमिका में विनोद खन्ना थे। फिल्म मन का मीत रिलीज़ होने के दो साल बाद ही विनोद ने गीतांजली से शादी कर ली। इसके बाद विनोद सच्चा झूठा, आन मिलो सजना, पूरब और पश्चिम, रेश्मा और सेरा जैसी फिल्मों में नजर आए। इसके अलावा एक्टर ने अमर अकबर एंथोनी, परवरिश, कुर्बानी, दयावान, सत्यमेव जयते और चांदनी सुपरहिट फिल्में दी। फिर विनोद गुलजार द्वारा निर्देशित पहली फिल्म मेरे अपने में नजर आए। फिल्म में एक्टर के रोल को पसंद किया। शत्रुघ्न सिन्हा संग उनकी टक्कर और मीना कुमारी संग उनकी बॉन्डिंग पसंद की गई। इसके बाद धीरे धीरे उन्हें धर्मेंद्र और अमिताभ बच्चन के अपोजिट सपोर्टिंग रोल मिलते गए। 70-80 के दौर में अमिताभ बच्चन अपनी करियर की ऊंचाईयों पर थे। कोई और एक्टर उनके सामने टिक नही पाता था लेकिन विनोद उस वक्त अमिताभ को टक्कर देने वाले एक्टर के तौर पर उभरें। 

Bollywood Tadka
निजी जिंदगी की बात करें तो विनोद ने दो शादियां की। पहली गीतांजली से की।  दोनों के दो बेटे राहुल खन्ना और अक्षय खन्ना हुए। विनोद की घर गृहस्थी कुछ सालों तक बहुत अच्छी चली लेकिन उसके बाद विनोद को आध्यात्म की ओर चले गए।विनोद ने घर छोड़ा तो शादी में दरार आ गई। गीतांजलि पति के सन्यास लेने से बहुत दुखी हो गईं। ओशो आश्रम जाने से पहले उन्होंने पत्नी और बच्चों का नहीं सोचा।  इन दूरियों के चलते पत्नी गीतांजली ने विनोद से अलग होने का फैसला किया।दोनों का तलाक हो गया। विनोद खन्ना करीब 5 सालों तक ओशो आश्रम में रहे।

Bollywood Tadka

1987 में उन्होंने फिल्म इंडस्ट्री में फिर से वापसी की। दूसरी पारी में उन्होंने कई हिट फिल्में दी। वहीं विनोद जब दूसरी बार बॉलीवुड में लौटे तो दूसरा प्यार मिला कविता में। कविता और विनोद खन्ना की मुलाकात उन्ही के घर में हुई एक पार्टी में हुई थी। पहली ही नजर में उनको 16 साल छोटी कविता पसंद आ गई थीं और फिर विनोद ने जल्द ही उनसे शादी भी कर ली । 1990 में विनोद खन्ना ने दूसरी शादी कविता से की। लेकिन विनोद पहली शादी से बेटे राहुल खन्ना और अक्षय खन्ना को नही भूले और अक्षय खन्ना को उन्होंने लॉनच किया और राहुल ने वीजे के तौर पर करियर बनाया। दूसरी शादी से उन्हें एक बेटा और एक बेटी थे। जिन्हें वह लॉन्च नही कर पाए थे।

Bollywood Tadka
बता दें विनोद 2010 में वो ब्लैडर कैंसर के शिकार हो गए थे। एक्टर ने 7 साल तक कैंसर से लंबी लड़ाई लड़ी। लेकिन 27 अप्रैल 2017 को  विनोद इस घातक बीमारी से जंग हार गए। सिनेमा में दिए गए योगदान के लिए एक्टर को कभी भुलाया नही जा सकता।

 


vinod khannabirthdayspecialBollywood NewsBollywood News and GossipBollywood Box Office Masala NewsBollywood Celebrity News
loading...